नैनो जैव संवेदक

यह समूह नैनो तकनीक उपकरणों का अभिकल्पन करता है जिनका उपयोग घर पर या चिकित्सकों द्वारा तेज गति डायग्नोस्टिक (नैदानिकी), खाद्य गुणता के नियंत्रण, ऐसे संरक्षा और सुरक्षा अनुप्रयोग के लिए किया जाता है जहाँ परिष्कृत और महंगे प्रयोगशाला उपकरणों के वैकल्पिक विधि की आवश्यकता होती है। नैनो जैव संवेदक अनुसंधान ऐसे उन्नत प्रौद्योगिकियों के विकास पर ध्यान केंद्रित करता है जो रोग नैदानिकी, नैनो और जैवसामग्री निरूपण और पर्यावरणीय मॉनिटरन के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करता है। ये प्रौद्योगिकियाँ नैनोमीट्रिक रूप से इंजीनियर की गई संवेदन प्लेटफॉर्म जैसे नैनोवायर पर आधारित प्लेटफॉर्म, नैनोगैप, सीएनटी, नैनोरिबन, नैनो वेल आदि का रूप लेती हैं। ऊपर वर्णित नैनोसंरचनाओं के आधार पर विभिन्न तरह के प्लेटफॉर्म जैसे कि संचालकता आधारित प्लेटफॉर्म, एफईटी आधारित प्लेटफॉर्म, एसईआरएस सबस्ट्रेट आदि की संभावनाओं की तलाश की जा रही है।

यह समूह गैस संवेदक उपकरणों के साथ ही माइक्रो-नैनो फ़्ल्यूडिक आधारित गतिविधियों पर भी फोकस कर रहा है। इस समूह के कोर क्षेत्र नैनोजैवसंवेदक में अनुसंधान की सफलता का प्रमुख घटक तरल/गैस-ठोस इंटरफ़ेस पर सतह रसायनविज्ञान को समझना है और इससे विविध क्षेत्रों जैसे नैनो इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों, चिप-स्केल डायग्नोस्टिक प्लेटफॉर्म (लैब ऑन चिप), रासायनिक अंतःक्रिया डाटाबेस और नवीन संसूचन/ संवेदन रणनीतियों में खोज का मार्ग प्रशस्त होगा। इस क्षेत्र में प्राप्त ज्ञान डायग्नोस्टिक और स्क्रीनिंग प्लेटफॉर्म के बीच में गुणधर्म के साथ समायोजन (फाइन ट्यून) की अनुमति प्रदान करता है, और इससे सोसाइटी के लिए अग्रणी डायग्नोस्टिक / संसूचन प्रणाली के विकास का मार्ग प्रशस्त होता है।