एकीकृत प्रणालियाँ (इंटीग्रेटेड सिस्टम्स)

एकीकृत प्रणालियाँ समूह वीएलएसआई एकीकृत परिपथों के अभिकल्पन एवं विकास में शामिल रहा है, जिसके आयाम का विस्तार माइक्रोप्रोसेसर डिजाइन से लेकर टेक्स्ट-टू-स्पीच सिंथेसिस और इमेज/वीडियो प्रोसेसिंग अनुप्रयोग तक है। इस समूह का अनुभव एफपीजीए और एएसआईसी प्लेटफॉर्म दोनों में ही है।

ओपन स्रोत आईपी कोर आधारित एसओसी डिज़ाइन और क्रियान्वयन, हाल ही में इस समूह का कोर रुचि क्षेत्र हो गया है। इसमें अभिकल्पन एवं क्रियान्वयन विभिन्न ईडीए टूल्स और अकादमिक अनुज्ञप्तियों वाले तकनीकी फाउंड्री लाइब्रेरी का उपयोग करके किया जाता है जिसे एमपीडब्लू सुविधा के माध्यम से अकादमिक प्रोटोटाइपिंग योजना के तहत फैब्रिकेशन, असेंबली और पैकेजिंग किया जाता है। आईसी डिजाइन इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनियों, नामतः ईडीए टूल वेंडर्स एंड फाउंड्रीज्, की कंप्लीट रेंज के साथ टाई-अप ने पूरे देश में चिप आधारित प्रणाली के विकास का सुदृढ़ परितंत्र तैयार किया है और यह देशभर के अकादमिक संस्थानों में ऐसे परितंत्र के संवर्द्धन का साधन सिद्ध हुआ है।

मल्टीमीडिया, ग्राफिक्स, वीडियो विश्लेषण, इमेज प्रसंस्करण, विभिन्न साइबर भौतिक प्रणालियों की सुरक्षा के लिए विशेषीकृत हार्डवेयर प्रकार्यों की सतत आवश्यकता होती है। प्रायः इनमें से अधिकांश अनुप्रयोगों के लिए समर्पित एएसआईसी / एएसआईपी डिजाइनों, डीएसपी और एसओसी आर्किटेक्चरों के लिए मॉड्यूल की आवश्यकता होती है। इस समूह का फोकस एरिया एफपीजीए रहा है, जो तीव्र, किफ़ायती और लघु स्तरीय अनुकूलित क्रियान्वयन तंत्र (स्मॉल स्केल कस्टमाइज्ड मेकनिज़्म) की सुविधा प्रदान करता है। सीमित परिस्थितियों (कॉन्स्ट्रेंड सिचुएशन) के लिए अनुकूलित (ओप्टिमाइज्ड) इंटेलिजेंट एम्बेडेड प्रणालियों के हार्डवेयर-सॉफ्टवेयर को-डिजाइन की नई चुनौतियाँ हैं। इस समूह द्वारा इसे भी आने वाले समय में दूर किए जाने की उम्मीद है।