नियंत्रण एवं स्वचालन (कंट्रोल और ऑटोमेशन)

इस समूह का उद्देश्य उद्योग जगत के साथ नजदीक से करते हुए स्वचालन एवं नियंत्रण संबंधी समस्याओं का हट्रेजेनस सेंसर डाटा फ्यूजन एप्रोच का उपयोग करके समाधान करना है। आंकड़े भौतिक सेंसरों या/और इमेज/वीडियो आधारित हो सकते हैं। विगत कुछ समय में, इस समूह ने आरओ संयंत्रों का सफलतापूर्वक स्वचालन किया है जिसमें ऑनलाइन मॉनिटरन, और नियंत्रण, मेम्ब्रेन की स्वास्थ्यकारिता के लिए सफाई के समय का पूर्वानुमान शामिल है। हमलोगों ने जल गुणता के मॉनिटरन के लिए नीरी-नागपुर के सहयोग से बहुत सी आसान और सुवाह्य प्रणालियाँ विकसित की हैं। विकसित प्रणालियों की जल गुणता मॉनिटरन जैसे पेय जल, मत्स्य पालन, और अपशिष्ट जल में महत्वपूर्ण अनुप्रयोग है।

यह समूह मत्स्यपालन के लिए प्रौद्योगिकियों के विकास में शामिल रहा है। हमारा समूह सीएसएआर-सीफा, भुवनेश्वर के साथ जल निकायों के लिए जल गुणता मॉनिटर करने के लिए, मछलियों के आहार के लिए और मछलियों में तनाव कारकों का निर्धारण करने के लिए, एम्बेडेड स्मार्ट सिस्टम्स (ऑटो फीडर और स्मार्ट बोट) का विकास किया है। इष्टम फीडिंग आवृति के साथ मछली की स्वचालित फीडिंग, फीड की मात्रा और अवधि से मछली के विकास, फीडिंग में एकरूपता, फ़ीड की बर्बादी और जनशक्ति लागत में कमी लाने में मदद मिलेगी।

यह समूह मानव शरीर की घटनाओं की पहचान करके और वीडियो डाटा सहित नॉन-इनवैसिव संवेदकों का इस्तेमाल करके एवं पैटर्न विश्लेषण एल्गोरिदम  का इस्तेमाल करके गतिशील एवं गतिवान पैरामीटर के माप द्वारा  बुजुर्ग लोगों के पुनर्वास के मॉनिटरन में भी शामिल है।

इस समूह की दूसरी बड़ी गतिविधि ओरल हेल्थकेयर के लिए चिकित्सा उपकरणों का विकास है। हमलोग दंत परीक्षण और ओरल कैंसर परीक्षण के लिए 2D/3D एंडोस्कोप का विकास कर रहे हैं। हमलोग सर्वाइकल कैंसर को समयपूर्व पता लगाने के लिए और डॉक्टर को मदद करने के लिए निर्णय का विकास करने के लिए भी कार्य कर रहे हैं।

नियंत्रण एवं स्वचालन समूह का विजन राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय दोनों स्तर के वैज्ञानिक अनुसंधान एवं प्रौद्योगिकीय विकास द्वारा नियंत्रण एवं स्वचालन के क्षेत्र में सेंटर ऑफ एक्सिलेंस बनना  है।

इस समूह का मिशन उद्योग जगत को अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करने के लिए अत्याधुनिक समाधान (स्टेट-ऑफ-आर्ट सॉल्युशन) उपलब्ध कराना है ताकि वे देश की प्रगति में योगदान देकर समाज की सेवा कर सकें।